Tag: #Shayri #HindiShayri #TwoLineShayri #2LineShayri

Shayari Part 40

बिखर जाने के बाद भी नई शुरुआत हो सकती है, ख़ामोश रह कर भी मुहब्बत की बात हो सकती है । #अख़्तर_खत्री ******* तुम्हारी तपिश से पिघल जाए वजूद ये हमारा कभी तो निगाहों से तुम हमको ऐसे छुआ करो। ******* कद बढ़ा नहीं करते ,ऐड़ियां उठाने से, […]

Shayri Part 39

बहुत सरल है, किसी को पसंद आना, कठिन तो है, हमेंशा पसंद बने रहना। ******* “तुम मुझे अब याद नहीं आते… तुम मुझे याद हो गये हो अब……!! ******* आज दिल चाह रहा है इतना मुस्कुराऊँ कि रोने लग जाऊं. ******* “खो” देते हैं, फिर… “खोजा” करते हैं, […]

Shayri Part 38

नादान आईने को क्या खबर, कि, एक चेहरा, चेहरे के अन्दर भी होता है…। ******* बदल दिए हैं हमने….अब नाराज होने के तरीके रूठने की बजाय..बस हल्के से मुस्कुरा देते हैं…। ******* भिड मे जिने की आदत नही मुजे थोडे मे जिना सिख लिया है मेने….. चन्द दोस्त […]

Shayri Part 22

हमारे दरमियाँ कुछ तो रहेगा चाहे वो फ़ासला ही सही … ******** सरकार ढूंढ-ढूढ कर सिर्फ “काले धन” वालो को ही पकड़ रही है.. “काले मन” वाले निश्चिन्त रहें…. ******* उस शक्श से फ़क़त  इतना सा ताल्लुक हैं मेरा !! वो परेशान होता है तो मुझे नींद नही […]

Shayri Part 21

ये बात और है कि इज़हार ना कर सकेँ.. नहीँ है तुम से मोहब्बत..भला ये कौन कहता है. ******* हजारो बार ली हैं तलाशियाँ तुमने मेरे दिल की, बताओ कभी कुछ मिला है तुम्हारे सिवा !!!! ******** क्या ऐसा नहीं हो सकता हम प्यार मांगे.. और तुम गले […]

Shayri part 20

फिर उसने मुस्कुरा के देखा मेरी तरफ़ फिरएकज़रा सीबातपरजीनापड़ामुझे। ****** तू बिन बताये मुझे ले चल कहीं….. जहाँ तू मुस्कुराये मेरी मंजिल वहीं…!! ******** हकीक़त कहो तो उनको ख्वाब लगता है .. शिकायत करो तो उनको मजाक लगता है… कितने सिद्दत से उन्हें याद करते है हम …………. […]

Shayri part 19

पुरानी होकर भी खास होते जा रही है, मोहब्बत बेशरम है बेहिसाब होते जा रही है। ******** कमबख्त इस दिल को हारने की आदत हो गयी है! वरना हमने जहाँ भी दिमाग लगाया फ़तेह ही पाई है!! ******** उसने रात के अँधेरे में मेरी हथेली पे नाजुक सी […]

Shayri part 18

Maut pe bhi mujhe Yakeen hai, Tum per bhi Aitbar hai, Dekhna hai pehle kaun Aata hai, Humien dono ka Intizar hai… ******** Hazaron aib he mujh me,,mujhe maloom he lekin… koi ek shaks he aisa,,, jo mujhe anmol kehta he… ******** Ye Doriyan To Mita Doon Mein […]

Shayri part 17

ऐसी तकदीर न पाई थी कि तुमको पा सकता… ऐसी याद्दाश्त न मिली थी कि तुमको भुला सकता.. ******* कोई वादा ना कर, कोई ईरादा ना कर! ख्वाईशो मे खुद को आधा ना कर! ये देगी उतना ही, जितना लिख दिया खुदा ने! इस तकदीर से उम्मीद ज़्यादा […]

Shayri part 16

कभी मंदिर पे बैठते हैं कभी मस्जिद पे …!! ये मुमकिन है इसलिए क्योंकि परिंदों में नेता नहीं होते ….!! ******** आज भी ये बात हम समझ ही नहीं पाते हैं !! मुट्ठी जितने दिल में कैसे ज़माने के गम समाते हैं ? ******** कीसी से भी अपनी […]

Shayri part 14

“बिखरने दो होंठों पे हंसी के फुहारों को दोस्तों, प्रेम से बात कर लेने से जायदाद कम नहीं होती….! ******** आइना तेरी भी हालत अजीब है मेरे दिल की तरहा!!!!!!! तुझे भी बदल देते है ये लोग तोड़ने के बाद…..!!! ******** मिल जायेंगा हमें भी कोई टूट के […]