Tag: #God #Mandir

ईश्वर को चाहना और ईश्वर से चाहना.. दोनों में बहुत अंतर है…

एक नगर के राजा ने यह घोषणा करवा दी कि कल जब मेरे महल का मुख्य दरवाज़ा खोला जायेगा..तब जिस व्यक्ति ने जिस वस्तु को हाथ लगा दिया वह वस्तु उसकी हो जाएगी.. इस घोषणा को सुनकर सब लोग आपस में बातचीत करने लगे कि मैं अमुक वस्तु […]

जो भी होता है, अच्छे के लिए होता है….

एक बार भगवान से उनका सेवक कहता है, भगवान आप एक जगह खड़े-खड़े थक गये होंगे. एक दिन के लिए मैं आपकी जगह मूर्ति बनकर खड़ा हो जाता हूं, आप मेरा रूप धारण कर घूम आओ. भगवान मान जाते हैं, लेकिन शर्त रखते हैं कि जो भी लोग […]

મંદીર

એક ભાઇ ખુબ ધાર્મિક હતા. ઘરમાં એક સરસ મજાનું નાનુ મંદિર બનાવેલુ એમાં ભગવાનની મૂર્તિ પધરાવીને તેની સવાર સાંજ પૂજા કરતા હતા. ભગવાન કૃષ્ણ પ્રત્યે એમને અપાર શ્રધ્ધા આથી મુરલીધરની મૂર્તિની પૂજા કરતા હતા. એકવાર કોઇ મોટી નાણાકિય મુશ્કેલી આવી એણે ઘરમંદિરમાં રહેલી મૂર્તિ સમક્ષ મુશ્કેલીના નિવારણ માટે […]