Hindi Shayari

Shayri Part 43

दोस्ती करना हर किसी के बस की बात नहीं है,

दोस्ती वो ही कर सकता है जो दिल का अमीर हो !!

*******

प्यार में लोग बहुत मजबूत हो जाते है, और बहुत कमजोर भी,

मजबूत इतने की सारी दुनिया से लड़ जाते है, कमजोर इतने की,

सिर्फ एक इंसान के बिना रह नहीं पाते…

*******

करेगी कद्र ये दुनियाँ हमारी भी एक दिन…!!

बस जरा “शराफ़त” की ये बुरी आदत ख़त्म हो जाने दो।

*******

ख्वाहिश नहीं कि तुम टूटकर चाहो हमें…

ख्वाहिश बस इतनी कि टूटने न देना हमें……

*******

रंजिशे है अगर दिल मे कोई तो खुलकर गिला करो,

मेरी फ़ितरत ऐसी है कि मैं फिर भी मुस्कुरा कर मिलूँगा !!

*******

किसी के लिए अच्छा तो किसी के लिए खराब हूं मैं।

किसी के लिए कुछ भी नहीं,किसी के लिए लाजवाब हूं मैं।

*******

हँसना आता है मुझे ,,,,,मुझसे ग़म की बात नहीं होती

मेरी बातों में मज़ाक होता है ,,,,मेरी हर बात मज़ाक नहीं होती

*******

बेशक मोहब्बत कीजिये पर किरदार इतना उम्दा हो जो रिश्ते टूट भी जाये तो आपके आबरू की हिफाजत कर सके💓💓 🌹🌹❣️❣️

*******

दूरी ने कर दिया है , तुझे और भी क़रीब !

तेरा ख़याल आकर ना जाये तो क्या करें हम !!

*******

तहज़ीब में उनकी, क्या खूब अद़ा थी !

नमक भी अदा किया , तो जख़्मों पर लगाकर !!

*******

ये जो तुम लफ़्जों से बार बार चोट देते हो ना !

दर्द वहीं होता है …….. जहाँ तुम रहते हो !!

*******

इक सुबह की तलाश में ….!

ज़िन्दगी की कई शामें गुजार दी हमने !!

*******

एक समुन्दर है , जो मेरी क़ाबू में है , और एक क़तरा है ,जो मुझसे सम्हाला नही जाता !

एक उम्र है , जो बितानी है उसके ब़गैर , और एक लम्हा है , जो मुझसे गुजारा नही जाता !

*******

तुम मेरे पास हो और रहोगे..

यादों की कोई उम्र नही होती ..

*******

तुम सदा मुस्कुराते रहो यह तमन्ना है हमारी,

हर दुआ में मांगी है बस खुशी तुम्हारी,

तुम सारी दुनिया को दोस्त बना कर देख लो,

फिर भी महसूस करोगे कमी हमारी।

*******

कुछ मौसम रंगीन है कुछ आप हसीन हैं,

तारीफ करूँ या चुप रहूँ जुर्म दोनो संगीन हैं।

*******

ढाई अक्षर की बात कहने में, कितनी तकलीफ उठा रखी है,

तूने आँखों में छिपा रखी है, मैंने होंठो पे दबा रखी है..

*******

काश कुछ जिम्मा वो भी उठा लेते,

टूटने से ना सही बिखरने से बचा लेते!!

*******

तेरी मोहब्बत की तलब थी इसलिए हाथ फैला दिए,

वरना हमने तो अपनी जिन्दगी की दुआ भी न मांगी।

*******

हम तो हर बार खै़रियत ही लिखेंगे, तुम बस फैली हुई स्याही पर ग़ौर फ़रमाना_✍🏻🌹

*******

मेरी रूह तरसती है उनकी खुशबु को।

वो कही और मेहक जाये तो बुरा लगता है…

*******

“ज़िन्दगी तो बड़ी सस्ती है, साहब बस जीने के तरीके बहुत महंगे है ।”

*******

वो खुद पे इतना गुरूर करते हैं, तो इसमें #हैरत की बात नहीं,

जिन्हें हम चाहते हैं, वो आम हो ही नहीं सकते।

*******

नए ज़ख्म के लिए तैयार हो जा ऐ दिल,

कुछ लोग प्यार से पेश आ रहे हैं।

*******

अपने हर इक लफ़्ज़ का ख़ुद आईना हो जाऊँगा

उनको छोटा कह के मैं कैसे बड़ा हो जाऊँगा .. !!

*******

कहो कैसी लगती है..??

वो चाय जो मेरे बग़ैर पीते हो….!!!!

*******

कहानी शुरू हुई है तो ख़त्म भी होगी,

किरदार काबिल हुए तो याद रखे जायेंगे !!

*******

मुस्कुराहट भी मुस्कुरा जाती है….

जब आपके होंठों पर आती है…..

*******

अपने उसूल कुछ इस तरह तोड़े हमने

गलती ना थी फिर भी हाथ जोड़े हमने…

*******

भीगी नहीं थी मेरी आँखें कभी वक़्त के मार से…

देख तेरी थोड़ी सी बेरुखी ने इन्हें जी भर के रुला दिया !

*******

पढ़ तो लिए है मगर अब कैसे फेंक दूँ;

खुशबू तुम्हारे हाथों की इन कागज़ों में जो है।

*******

मुहब्बत में प्यार मिले न मिले लेकिन याद करने के लिए एक चेहरा जरूर मिल जाता है ।

*******

मुफ्त में मिल जाया करूँ. वो राय थोड़ी हूँ…

हर शख्सियत को पसन्द आ जाऊं.. मैं चाय थोड़ी हूँ..

*******

एक मास्क का क्या करोगे,

कुछ लोगो के तो कई चेहरे हैं…!!

*******

कभी “मौका” मिला तो…हम “किस्मत” से…”शिकायत” जरूर करेंगे…..

क्यों “दूर” हो जाते हैं…वो “लोग”…जिन्हें हम “टूटकर” चाहते हैं…..💔

*******

पता नहीं ये बादल क्यूँ भटक रहे है फ़िज़ा में दर-बदर,

शायद इनसे भी बात नहीं करता इनका अपना कोई !!

*******

या रब एक आइना ऐसा बना दे जिसमें चेहरा नहीं नीयत दिखाई दे ।

*******

इश्क़ के मायने तुझी से सीखे हैं मैंने..!!

सूनो सनम अब तुझी से बेपनाह मोहब्बत ना हो तो क्या हो….!!!!

*******

ख़ुश होना है तो बेवजह हो जाइए जनाब वजहें आजकल महँगी हो गयी है ।

*******

उम्र गुजर रही है,तराजू के पलड़ों में……..

कभी रिश्ते भारी हो रहे है, तो कभी अरमान!

*******

मेरी दुआओं का मुकम्मल होना और,,,

उनका मुस्कुराना एक ही बात है  ।

*******

किसी को बांध के रखना फितरत नहीं मेरी,

मैं प्रेम का धागा हूँ, मजबूरी की जंज़ीर नहीं।

*******

फासले तो मजबूरियाँ है वर्ना,,,

बिना उनके सास़ भी रास नही आती,,

*******

खबर तो थी कि तुम बदल जाओगे मगर तुमने तो मौसम को भी शर्मिन्दा कर दिया ।

*******

बिना इजहार किए किसी को खामोशी से चाहना भी इश्क है..!!

*******

खामोशी खा गयी जज़्बात मेरे ,

शोर पूछता रहा माजरा क्या है ||

*******

था तुझे ग़ुरूर ख़ुद के लम्बे होने का ए सड़क,

ग़रीब के हौसले ने तुझे पैदल ही नाप दिया ||

*******

तुझे याद करना न करना अब मेरे बस में कहाँ,

दिल को आदत है हर धड़कन पे तेरा नाम लेने की।

*******

अन्दाजा नहीं था,इतनी गहरी चाहत होगी तुम्हारी….!!

ज़रा सा क्या उतरे तुम्हारे दिल में,डूबते चले जा रहे हैं….!!

*******

इंतजार से थकी इन आंखों में कुछ खयालात चाहता हूं…

मेरी नज्म को पढ़ने वाले तुझसे एक मुलाकात चाहता हूं !

*******

परेशान करती कभी कभी तेरे चेहरे की सादगी…!!

मुकम्मल गजल लिख दु तो भी कागज खाली नजर आता है…!!!

*******

शिकायत होगी तो खुदसे..

तुझसे तो हमेसा इश्क़ ही होगा ।

*******

बस मुस्कुराना पसंद है, फिर…

हमारा हो या तुम्हारा…. ❣️❣️

*******

जिस शाम तू ना मिले वह शाम ढलती नहीं,

आदत सी तुम बन गये हो , आदत बदलती नहीं!

********

मुझे खैरात नहीं चाहिए, अपने हक़ का इंतेज़ार करता हूं,,

मै एक बंद दरवाजे जैसा हूं , तेरी दस्तक का इंतेज़ार करता हूं..!!

*******

इश्क-ए-आरजू तुम्हे भी है हमसे,,

इज़हार तुम करो !! तो इशारा हम भी करे !!!

*******

नसीब में कुछ रिश्ते अधूरे ही लिखे होते हैं … लेकिन…

ताज्जुब है उन रिश्तो की यादे इतनी खूबसूरत क्यों होती है..!!

*******

जख्म कहां कहां से मिले है, छोड़ इन बातो को…

जिंदगी तु तो ये बता, सफर कितना बाकी है….. 💔💔

*******

खुशी के ना सही, गम के ही काबिल कर ले;

तू हमें अपने आँसुओं में ही शामिल कर ले.!

*******

याद रहेगा यह दौर भी हमको उम्र भर के लिए,

कितना तरसे है जिंदगी में एक शख्स के लिए ❤.

*******

दिल को हज़ार चीख़ने चिल्लाने दीजिये,

जो आपका नही है, उसे जाने दीजिये ।

*******

आ भी जाओ,,, मेरी आँखो के रू-ब-रू तुम,,,,

कब तक तुम्हें,, ख्वाबों में ढूँढा जाये…

*******

किसी ने पूंछा मुझसे क्या है तेरी जिन्दगी का खजाना….

मुझे अचानक याद आ गया “उनका का वो हलके से मुस्कुराना…….😊

*******

हमें कहां नसीब कि तुझे रूबरू देखें…

बस खोल के तेरी प्रोफाईल तुझे जी भर के देखते हैं..!!!

*******

तार मन के उलझे है, दोष रिश्ते को देतें है ।

******

वो विधाता होकर भी विधि के विधान को नहीं टाल सके।

इश्क राधा से और विवाह रुक्मणि से रचाना पड़ा।

*******

हमारी आँखों में अपना खुमार रहने दो

तमाम उम्र हमें तेरा क़र्ज़दार रहना है ।

*******

कभी कभी तक़दीर, किसीकी दुआ के इन्तजार में होती है !!

*******

रंजिश का मज़ा तो तब है… जब इश्क़ का बदला इश्क़ हो!

*******

पहचान कीस की कीतनी है, ये जरूरी नहीं साहब,

मगर पहचान कीस वजह से है, ये बहुत जरूरी है..

*******

पैग़ाम लिया है, कभी पैग़ाम दिया है ….

आँखों ने मोहब्बत में, बड़ा काम किया है।

*******

हर गुनाह कबूल है ‘हमें साहब’, बस…. सजा देने वाला ‘बेगुनाह’ हो..

*******

नायाब हीरा बनाया है रब ने हर किसी को पर चमकता वही है जो तराशने की हद से गुज़रता है……

*******

चिराग़ सी तासीर रखिए अपनी,

सोचिए मत कि घर किसका रौशन हुआ…

*******

सब्र का घूंट दूसरो को पिलाना कितना आसान लगता है..!!

ख़ुद पियो तो क़तरा क़तरा ज़हर लगता है…!!

*******

एक मुलाक़ात करो हमसे इनायत समझकर; हर चीज़ का हिसाब देंगे क़यामत समझकर;

मेरी दोस्ती पे कभी शक ना करना; हम दोस्ती भी करते है इबादत समझकर।

*******

साफ़ साफ़ बोलने वाले कडवे जरुर होते है,

लेकिन ये लोग धोखेबाज नहीं होते !!

*******

मोहब्बत की बात जहां-जहां आती है,

तेरी कसम तेरी याद आती है ।

*******

बहुत प्यार से रखेंगे तुम्हें, एक बार हमारा होकर तो देखो !!

*******

बारिश से ज़्यादा तासीर है यादों में हम अक्सर बन्द कमरों में भीग जाते हैं ।

*******

सलामत रहे वो शहर जिनमें तुम बसे हो दोस्तों…

हम तुम्हारी खातिर पूरे शहर को दुआ देते हैं….!!

*******

वो हमसे नाराजगी कुछ यूँ भी जताती है..

खफा जिस रोज होती है, काजल नही लगाती है !!

*******

कदर करने वालो को हमेशा बेकदर लोग ही मिलते हैं ।

*******

असफलता अनाथ होती है… परन्तु सफलता के बहुत रिश्तेदार होते हैं.. ।

*******

फुर्सत मिले तो कभी बैठ कर सोचना..

तुम भी मेरे अपने हो, या सिर्फ हम ही तुम्हारे हैं..

*******

वक्त मेरा हो ना हो, मैं हर वक्त तेरा हूँ !!

*******

तुमने कहा था आँख भर के देख लिया करो मुझे,

मगर अब आँख भर आती है तुम नजर नही आते हो..

*******

मेरी एक बात हमेशा याद रखना,

मै दुनिया भूल सकता हूं पर तुम्हे नहीं ।

*******

हर कोई मेरा हो जाए, ऐसी मेरी तक़दीर नही,

मैं वो शीशा हूँ, जिसमे कोई तस्वीर नही….

*******

तुम्हारी एक कमी, हर लम्हे में आंखों की नमी की वजह बन गई,

ज़िन्दगी की वो हरएक बदी की वजह बन गई ।

बारिशें जो अधूरी ख़्वाहिशें ही रह गई वो अब,

दिल की सूखी हुई इस ज़मीं की वजह बन गई ।

#अख़्तर_खत्री

*******

ये बात किसने उड़ाई की मुझे इश्क है तुमसे,

हाँ तुमको यकीं आये तो अफवाह नहीं हैं ये ।

*******

मैं पूरे शहर की हमदर्दियों का क्या करता??? .

मुझे किसी की ज़रूरत थी… हर किसी की नहीं!!!

*******

जी चाहता है उनसे प्यारी सी बात हो,

एक हसीन चाँद और एक लंबी सी रात हो !!

*******

मोहब्बत भी हमने कुछ अजीब ढंग से की,

दौर जिस्मों का था और हम दिल मांग बैठे ।

*******

लफ्जों का वज़न उससे पूछो,

जिसने उठा रखी है खामोशी लबों पर…

*******

जो अनकहा रह जाता है, वो सबसे हसीन होता है..

******

अजीब कशमकश है जिंदगी जो मिल नही सकता , वही चाहिए ।

*******

गुस्सा तो हमें भी आता है, पर तुम्हें देखकर तो सिर्फ प्यार आता है !!

*******

जिंदगी तब खुबसूरत होती है, जब जिंदगी बनाने वाला साथ हो !!

*******

कुछ खूबसूरत पलों की महक सी हैं तेरी यादें,

सुकून ये भी है कि ये कभी मुरझाती नहीं।

*******

बैठे थे अपनी मस्ती में कि अचानक तड़प उठे,

आ कर तुम्हारी याद ने अच्छा नहीं किया।

*******

लोग तलाशते है कि कोई… फिकरमंद हो,

वरना कौन ठीक होता है यूँ हाल पूछने से।

*******

थोड़ी मोहब्ब्त तो उसे भी हुई होगी मुझसे….

इतना वक़्त सिर्फ दिल तोड़ने के लिए कौन बर्बाद करता है…

*******

चलो एक रोज के लिए किरदार बदलते हैं….

तुम इंतजार करो हमारा और हम बेखबर रहते हैं….

*******

मेरे मिज़ाज का इसमें कोई क़सूर नहीं,

उनके सलूक ने बदल दिया लहजा मेरा!!

*******

प्यार_दोनों को था एक दुसरे से, पर दोनों  एक तरफ़ा समझते रहे।

*******

तेरी जगह आज भी कोई नही ले सकता,

पता नही वजह तेरी खूबी है या मेरी कमी ।

*******

एक मुस्कुराहट ही तो चाहते है तुम्हारे लबों पर,

यकीन मानो और कोई लालच नहीं तुम्हारी तारीफ करने का ।

*******

छीन सकते हे हम हर चीज़ दुनिया से,

एक वो ही थे जिन्हें हम उनकी मर्ज़ी से लाना चाहते थे।

*******

एक तेरे दीदार को आतें हैं हम गली तेरी…

आवारगी के लिए तो सारा शहर पडा हैं….

*******

मैंने सीखे है मोहब्बत से मोहब्बत के #उसूल…..

सबसे मुश्किल है किसी अपने को #अपना बनाये रखना!

*******

कुछ बहुत खूबसूरत लिखने का दिल कर रहा है….

इजाज़त हो अगर, तो मैं तुम्हारा नाम लिख दूँ…

*******

रूठने की अदाएं भी क्या खूब थी उसमे,

गले लगा कर बोले मुझे बात नहीं करना तुमसे ।

*******

हिचकियों से कह दो ज़रा कुछ दिन सब्र बांध लें,

ये जो दूरियां हैं, फिलहाल सब के लिए ज़रूरी हैं.. ।

*******

चलो छोड़ो ये बहस की वफ़ा किसने की,, और बेवफा कौन हैं.…

तुम तो ये बताओ कि आज “तन्हा” कौन है….!

*******

फासले भी होंगे दोस्ती में, मेरे जहन में नहीं थी,

हमने तो किया टूट के , वैसी दोस्ती चलन में नहीं थी…..

*******

कौन कहता है बुढ़ापे में, इश्क का सिलसिला नहीं होता।

आम तब तक मजा नहीं देता, जब तक पिलपिला नहीं होता।

*******

जो मांगू , वो दे दिया कर.. ऐ ज़िन्दगी.. तू मेरी माँ जैसी बन जा..

*******

कुछ कमियाँ मुझमें थीं, कुछ कमियाँ लोगों में थीं ,

फ़र्क सिर्फ इतना सा था वो गिनते रहे और हम नजरअंदाज करते रहे।

*******

ऐ रात तू मेरे अकेले पन पर इस कदर मत हस,

वर्ना तू उस दिन बहुत पछताएगी जब मेरी मोहब्बत मेरी बाहो में होगी ।

*******

हिचकियों पे भरोसा किया जाए तो, मेरी उनसे मुलाक़ात बस होने वाली है…

*******

रिश्ते तोड़ देने से, मोहब्बत खत्म नही होती ……..

लोग याद तो उन्हें भी करते है, जो दुनिया छोड़ जाते हैं……..

*******

चिंता और तनाव में इंसान तभी होता हैं,

जब वो खुद के लिए कमऔर दूसरों के लिये ज्यादा जीता हैं ।

*******

मोहब्बत तो रूह में उतरा हुआ एक रिश्ता है..

बातें या मुलाकातें कम होने से मोहब्बत कम नही होती..।

*******

खाली हाथों को भी कभी गौर से देखा कीजिये,

किस तरह से निकल जाते हैं लोग लकीरों से।

*******

स्माइल करो, इसीलिए नहीं कि आपके पास स्माइल करने का कारण है..

इसलिए क्योंकि..दुनिया को रत्ती भर फर्क नहीं पड़ता आपके आंसुओं से..!!

*******

बेशक हम आशिक है लाख दावा ए होश करते है..

पर उनका क्या करें…जो नजरों से मदहोश करते है..!!

*******

तबाह होकर भी तबाही दिखती नहीं,

यह इश्क़ है इसकी दवा कहीं बिकती नहीं ।

*******

कोई घूंघट, कोई मुखोटा, कोई नक़ाब में है,

सच कहूं तो यहां, कांटा हर गुलाब में है..!!

*******

मेने कब कहा कि वो मिल जाये मुझे,

गैर न हो जाये बस इतनी सी हसरत है..।

*******

ज़रा सी  हवा की आहट क्या हुई..!!

याद आ गए वो शाम ढलते ही….!

*******

बहुत अजीब हैं ये मोहब्बत करने वाले…

बेवफाई करो तो रोते हैं और वफा करो तो रुलाते हैं….

*******

गज़ल भी मेरी है, पेशकश भी मेरी है, मगर…

लफ्जो़ं में जो छुप के बैठी है वो बात उनकी है..।

*******

मंजिल का नाराज होना भी जायज था,

हम भी तो अजनबी राहों से दिल लगा बैठे थे।

*******

मैं खुद भी अपने लिए अजनबी हूँ,

मुझे गैर कहने वाले उनकी बात में दम है !!

*******

उनका हर दिन एक पर्व होता हैं ,

जिन्हें अपने काम पर गर्व होता हैं….!!

*******

तलाशी ले ले ए दोस्त तू भी मेरी….

अगर जेबों में मज़बूरी के सिवा कुछ और मिले तो ये जिंदगी तेरी….!!

*******

उड़ा देती है नीदें भी कुछ जिम्मेदारीयाँ घर की,

देर रात तक जागने वाला हर शख्स आशिक नही होता।

*******

“आवाज” ऊँची होगी तो कुछ लोग सुनेगें,

किन्तु “बात” ऊँची होगी तो बहुत लोग सुनेगें ।

*******

भूलता कोई नहीं, बस याद करने के बहाने ख़तम हो जाते है !!

*******

जिंदगी में चुनौतियाँ हर किसी के हिस्से नहीं आती,

क्योंकि किस्मत भी किस्मत वालो को ही आजमाती है !!

*******

मैंने कभी नहीं कहा कि वो भी मुझसे बेपनाह प्यार करे,

बस इतनी सी ख्वाहिश है वो मेरी मुहब्बत तो महसूस करे।

*******

मत पूछो कैसे गुजरता हर पल तुम्हारे बिना,

कभी बात करने कि हसरत तो कभी देखने की तमन्ना।

*******

चलते चलते थक गये तो पूछा, पाँव के छालों ने…

कितनी दूर बसाई है दुनिया तेरे चाहने वालो ने… !!!

*******

ख्वाइश तो थी तेरे कानों में बालिया पहनाने की,

मगर तेरे बालों की खुश्बू ने हमें पहले ही मदहोश कर दिया।

*******

वो तो जरा टूटा_बिखरा पड़ा हूं ..!!

वरना,, इश्क आपको हम सिखाते …

*******

माना कि तेरे चाहने वालों की कमी नही है,

मग़र हम याद रहने वालों में ही गिने जाते हैं….

*******

खूबियों पे तुम्हारी ज़माने को फ़िदा होने दो,

हम तो तुम्हारे ऐबों पे अपना दिल हार बैठे है।

*******

हर एक रिश्ते को नाम की ज़रूरत नही होती…!!

जब कोई अजनबी अपना लगे बस वही ईन्सानियत है…!!

*******

किस्मत की किताब तो खूब लिखी थी मेरी खुदा ने,

बस वही पन्ना गुम था जिसमें मुहब्बत का जिक्र था।

*******

क्या लिखूं और  कितना लिखूं , दिल के एहसासों को…….

जिंदगी भरी पड़ी है सब, अनकहें अल्फाज़ों से……..

*******

तबाह कर डाला तेरी आँखों की मस्ती ने..!

हज़ार साल जी लेते अगर तेरा दीदार ना किया होता तो..!!

*******

लॉकडाऊन जीवन भर का भी मंजूर है..

कॉरेंटाईन जो ‘तेरी बाहों में होना पडे….

*******

जानते हो मोहब्बत क्या है,

किसीकी ख़ुशी को हर दुआ में माँगना !!

*******

कुछ तो बोलो…खामोशी का ये शोर अच्छा नहीं लगता…

*******

इत्मीनान से चाहेंगे तुम्हे

क्योंकि

बरसों का इन्तजार हो तुम…..!!!

*******

तेरा नशा है ये….

तुझसे ही…उतरेगा…!!

*******

बहुत खूबसूरत वो रातें होती हैं,

जब तुम से दिल की बातें होतीं हैं।

*******

नहीं बसती किसी और की सूरत अब इन आँखों में

काश कि हमने तुझे इतने गौर से ना देखा होता।

*******

आईने का जीना भी लाजवाब है..,

स्वागत सभी का है, लेकिन संग्रह किसी का नही..।

*******

बड़ा मिठा नशा है तेरी याद का …..

वक़्त गुजरता गया और हम आदी होते गए।

******

माना की नही आता मुझे किसी का दिल जीतना,

मगर ये तो बताओ की यहाँ दिल है किसके पास!!!?

*******

साकी को गिला है कि बिकती नही शराब..

ओर तेरी आंखे है कि होश में आने नही देती..

*******

यादों की कश्ती से पार कर लेंगे जिन्दगी का सफर,

शर्त बस इतनी है, कि उसपार “तुम” मिलो..!!

*******

आओ तुम्हे ऑसमॉ ले चलु..

चॉंद को उसकी औंकात दिखाने…!

*******

कैसे करे हम खुद को उनके प्यार के काबिल..

जब हम आदते बदलते है तो वो शर्ते बदल देते है…!

*******

मौन एक सच्चा मित्र है जो कभी विश्वासघात नहीं करता है।

*******

उम्र गुज़र रही है, तराज़ू के काँटे को संभालने में,

कभी फ़र्ज़ भारी होते हैं, तो कभी अरमान।

*******

हादसे बुरा मान जायेंगे…!

उन्हें तर्जुबा कहा करो…!!

*******

बारिश में रख दूँ जिंदगी को,

ताकि धुल जाए पन्नो की स्याही,

ज़िन्दगी फिर से लिखने का

मन करता है कभी-कभी…!

*******

किताबों पर धूल जम जाने से कहानी नहीं बदलती ।

*******

बडे ही खुशनुमा वहम में थे…..

कि उनकी जिंदगी में अहम थे।

*******

“रात के आगोश में अगर आ जाए ख़्याल उनका..

तो सुबह बिस्तर से भी फूलों की महक आती है…!”

*******

इत्मीनान से चाहेंगे तुम्हे, बरसो का इन्तजार हो तुम।

*******

चर्चा जब नशे की हो रही हो?

और तुम याद न आओ ऐसा हो ही नहीं सकता ।

*******

इतना गुरूर भी अच्छा नहीं… 😏

चांद जैसे हो ,चांद तो नहीं हो…।

*******

मुझे कुछ भी नहीं कहना इतनी सी गुजारिश है,

बस उतनी बार मिल जाओ जितना याद आते हो।

*******

मेरे बिना क्या अपनी..जिंन्दगी गुजार लोगे तुम,

इश्क हूँ, बुखार नहीं, जो दवा से उतार लोगे तुम..

******

माना की जायज नही हैं इश्क तुमसे बेपनाह करना,

मगर तुम अच्छे लगे तो ठान लिया ये गुनाह करना—!

*******

शोहरत तो बदनामी से ही मिलती है??

क्योंकि यहाँ लोग बदनामी के किस्से कान लगा के सुनते हैं।

*******

वो दर्द जो सहे नही जाते…अक्सर किसी से कहे नही जाते..!

*******

उन्होने हमें नज़रअंदाज़ किया,

हमने उन्हे नज़र आना ही छोड़ दिया!!

*******

एक तमन्ना थी कि ज़िंदगी रंग बिरंगी हो,

और दस्तूर देखिये जितने मिले गिरगिट ही मिले !!

*******

बंध जाता हे जब  किसी से रूह का बन्धन……

तो इजहार ए मुहब्बत को अल्फाजो की जरुरत नहीं होती..

*******

मैं हूँ दिल है तन्हाई है,

तुम भी होते अच्छा होता !!

*******

एक लड़की की इज्जत करना,

उसको खुबसूरत कहने से भी खुबसूरत है !!

*******

कल से मेरे शहर मे तेज बारिश हो रही है…

तुझे भुलाने कि नाकाम हर कोशिश हो रही है।

*******

हर कोई “मुझे” जिंदगी जीने का तरीका” बताता है….

उन्हें” कैसे समझाऊँ  की “कुछ ख्वाब अधुरे” हैं वर्ना जीना मुझे भी आता है।

*******

रूबरू मिलने का मौका मिलता नहीं है रोज,

इसलिए लफ्ज़ों से तुमको छू लिया मैंने।

*******

मेरी पागल सी मोहब्बत तुम्हें बहोत याद आएगी…,

जब हँसाने वाले कम और रुलाने वाले ज्यादा होंगे!

*******

जिंदगी के राज़ को राज़ रहने दो,

अगर है कोई ऐतराज़ तो रहने दो,

पर जब दिल करे हमें याद करने को,

तो उसे ये मत कहना के आज रहने दो।

*******

दो बुँदे क्या बरसी, चार बादल क्या छा गये

किसी को जाम, तो किसी को कुछ नाम याद आ गये।

*******

दौड़ती भागती ज़िन्दगी में बस यही तोहफा है,

खूब लुटाते रहे अपनापन फिर भी लोग खफा है।

*******

वक़्त के साथ जो  मैने अपनी #ज़िन्दगी देख ली …

किसी की #सच्चाई और किसी की #फितरत देख ली …

*******

कुछ #राज़ और #दर्द तो क़ैद रहने दो मेरी #आँखों में ..

हर किस्सा तो शायर भी नहीं सुनाता …

*******

जब देखो…तौलने बैठ जाते हो “रिश्तों” को..!

ये भी तो बताओ ना…दूसरे पलड़े में रखते क्या हो…?

*******

लगा लेना काजल अपनी आंखो में जरा ,

ख़्वाब बनकर  दाखिल होने का इरादा है मेरा…

*******

खास हो तुम पर पास नही,

काश हो तुम पर आस नही।

*******

लोग अपनी शायरी में मोहब्बत की बात करते है,

और में अपनी शायरी में मोहब्बत से बात करता हूं।

*******

दर्द सबसे ज्यादा हमें तब होता है ऐ जिंदगी,

जब हम अपना दर्द किसी को बता नहीं पाते !!

*******

बादलों का गुनाह नहीं, कि वो बरस गए…..

दिल हल्का करने का हक तो सबको ही है ना!!

*******

एक तुम हो सनम कि कुछ कहते नहीं,

एक तुम्हारी यादें है जो चुप रहती नहीं ।

*******

सब कुछ पा लिया तुमसे इश्क़ कर के,

बस कुछ रह गया तो वो तुम ही थे..!!

*******

बहुत मासूम होते है ये आँसू भी,

ये गिरते उनके लिए है जिन्हें परवाह नहीं होती !!

*******

कहते हे..प्यार की शुरूआत आँखो से होती है ,

यकीन मानो दोस्तो,

प्यार की कीमत भी आँखो को ही चुकानी पङती है..

*******

लोगो ने समझाया कि वक्त बदलता है ..

वक्त ने समझाया कि लोग भी बदलते है ..

*******

थोड़ी थोड़ी ही सही मगर बातें तो किया करो,

चुपचाप रहती हो तो खफा खफा सी लगती हो।

*******

उन  से  बात नहीं हुई सुबह से ,

तो सुबह ही नहीं हुई सुबह से ।

*******

कोई तो हो जो घबराए मेरी  खामोशी  से…!

किसी को तो समझ आए मेरे लहजे का दुख…!!

*******

उनके ना होने से बस इतनी सी कमी रहती हैं,,,

मै लाख मुस्कुराऊ आँखों में नमी सी रहती है,,,

*******

मैले हो जाते हैं, रिश्ते भी लिबासों की तरह साहिब..!

कभी-कभी इनको भी मोहब्बत से धोया कीजिए..!

*******

नशा छोड़ा था उसे पाने के लिए,

फिर नशा ही काम आया उसे भुलाने के लिए!

*******

तुम्हारे हर सवाल का जवाब मेरी आंखों में था,

और तुम मेरी जुबां खुलने का इंतज़ार करते रहे।

*******

रोटी के सफ़र में नींद ऐसी खो गई…

हम न सोए, रात थक कर सो गई…

*******

जलेबी सिर्फ मीठी ही नहीं, एक महत्वपूर्ण संदेश भी देती है..

खुद कितने भी उलझे रहो, पर दुसरो को हमेशा मिठास दो….

*******

इश्क़ की उम्र नहीं होती… ना ही दौर होता है…

इश्क़ तो इश्क़ है… जब होता है… बेहिसाब होता है…।।

*******

बहोत दिनों से तुम्हे देखा नहीं है,

ये आखों के लिये अच्छा नहीं है..

*******

थोड़ा सम्हाल के रखा करो अपने आप को,

तेरी ही खूबसूरती बची है ताजमहल के बाद!

*******

वो गलतियां बहुत ‘दर्द’ देती है..,,

जिनकी ‘माफ़ी’ मांगने का ‘वक़्त’ निकल चुका हो…!!!

*******

सिर्फ, इतना ही फर्क पड़ा है चेहरे की हँसी पर,

पहले आती थी, अब लाते हैँ ।

*******

 

Leave a Reply