Day: August 28, 2020

ઊંઘ

મોટાં મોટાં બંગલાવાળા શેઠોના એરિયામાં એક માણસ નીકળ્યો અને કોઈ વસ્તું વેંચવા નીકળ્યો હોય એ અદાથી બોલવા લાગ્યો, ” ઊંઘ લેવી….. ઊંઘ….. ” બધાંને ભારે આશ્ચર્ય થયું કે આ માણસ પાગલ તો નથી ને? તેવામાં અનિંદ્રા થી પીડિત એક શેઠ તેની પાસે ગયાં અને બોલ્યાં, ” ભાઈ, મને […]

नहीं मिलता वोह लड़का

नहीं मिलता वोह लड़का जिससे में ब्याह के आयी थी — शरारती था मोजिला था अब उलझा उलझा सा रहता है — खेलता था बारिशो के पानी से अब हिसाब में डूबा रहता है — अटखेलियों से बैठता था डाइनिंग टेबल पर अब सर झुका कर खा लेता […]

वह लड़की जिसे मैं ब्याह के लाया था

नहीं मिलती है। ढूंढता हूँ तो भी, वो लड़की जिसे मैं ब्याह के लाया था… घिरी रहती है तेल नमक के चक्करों में। बच्चों की पढाई या उनकी ट्यूशनों के शिडयूल में, मसरूफ सी कोई मिलती तो ज़रूर है, पर नहीं मिलती मुझे, वो लड़की जिसे मैं ब्याह […]