Dr. Akhtar Khatri

तितर बितर

हमारे इस आशियाने को तितर बितर नहीं होने देना है,
कुछ हो जाए ज़माने को तितर बितर नहीं होने देना है ।

जान लगा देंगे, लूटी ख़ुशियाँ वापस लाने के लिए,
मुल्क के हर दीवाने को तितर बितर नहीं होने देना है ।

मज़हबी एकता ही जान रही है, इस बेहतरीन मुल्क की,
भारत के इस ख़ज़ाने को तितर बितर नहीं होने देना है ।

पाना है सब से ऊंचा मुकाम हमे इस सारे संसार में,
वहीं रहेगा, उस निशाने कोतितर बितर नहीं होने देना है ।

हर एक व्यक्ति ख़ुश होना चाहिए मेरे मुल्क का ‘#अख़्तर’,
खुशियों के इस पैमाने को तितर बितर नहीं होने देना है ।

-अख़्तर खत्री

Categories: Dr. Akhtar Khatri

Leave a Reply