Asim Bakshi

दोस्ती का अक्स हूँ में !!

मामूली सा एक इंसान हूँ में
मुश्किल नहीं आसान हूँ में
समझ लो पढ़कर चेहरा मेरा
कहाँ तुमसे अनजान हूँ में

प्यार दो प्यार हूँ में
तुम्हारा ही यार हूँ में
कभी आज़मा लेना मुझे
दोस्ती का ताबेदार हूँ में

दिल के बोहोत करीब हूँ में
तुम्हारा बोहोत अज़ीज़ हूँ में
कभी दिल से देना आवाज़
समझूंगा खुशनसीब हूँ में

बरसो से ऐसा ही हूँ में
जी हाँ वही शक्श हूँ में
आइना देगा गवाही मेरी
दोस्ती का अक्स हूँ में !!

-आसिम बक्षी 

Categories: Asim Bakshi

Leave a Reply