Day: October 30, 2019

पूछो इन जीत से तेरी रज़ा क्या है ।

खुली आंख से सपने सज़ा लो, इन ख्यालो में बसा क्या है । अथक परिश्रम तुम कर लो, इन चापलूसी में रखा क्या है । भटको मत, लक्ष्य का पीछा करो, मंजिल से पूछो तेरा पता क्या है । राहें बनती – बिगड़ती जायेगी, पगडंडियों से घबराना क्या […]