Poems / कविताए

बाकी सब ठीक है !

थोड़ी तकलीफ़ ,
थोड़ा गम,
थोड़ी परेशानियाँ हैं !
बाकी सब ठीक है !!

चंद मुश्किलें,
कुछ उलझनें,
थोड़ी बे-चैनियाँ हैं !
बाकी सब ठीक है !!

कभी रुक सी जाती है धड़कन,
यह साँसें अटक सी जाती हैं,
कुछ उम्र की थकावट ,
कुछ बीमारियाँ है !
बाकी सब ठीक है !!

जी रहे हैं हम,
यूँ कि रस्म अदायगी समझो,
कुछ अड़चने,
थोड़ी कठिनाइयाँ हैं !
बाकी सब ठीक है !!

कहना तो बहुत कुछ है लेकिन,
कुछ बेबसी, कुछ मजबूरियाँ हैं !
बाकी सब ठीक है !!

हों अपने,
या कि हों गैर,
सब एक से हैं,
यहाँ धोखे,
वहाँ रुसवाईयाँ हैं !
बाकी सब ठीक है !!

कभी लड़ पड़ते हैं मुझसे,
कभी इक ओर बिठा देते हैं,
मेरे बच्चों में
थोड़ा लड़कपन है,
थोड़ी नादानियाँ हैं !
बाकी सब ठीक है !!

समय की चोट से,
दो हिस्सों में बँट गया है मन
एक तरफ शोर
एक तरफ खामोशियां हैं !
बाकी सब ठीक है !!

मुद्दतों बाद मिला तो,
हँस के आईना बोला
शिकन है,
दर्द है ,
चेहरे पे झुर्रियां हैँ चंद !
बाकी सब ठीक है .!!

Categories: Poems / कविताए

Tagged as:

Leave a Reply