Month: April 2014

Shayri part 15

Pahle “TOOT Ke CHAHNA” or Fir Khud “TOOT Jana…Baat To Choti Si hai Dosto…Magar “JAANLEWA” Hai. ********* Ek Mehboob Laaparwah Ek Mohabbat Bepanah.. !! Dono kafi Hain Sukoon Brbad Karne Ko… ********* Yeh maana k tumse na mil paayenge hum, Magar yaad rakhna ki yaad aayenge hum. ********* […]

Shayri part 16

कभी मंदिर पे बैठते हैं कभी मस्जिद पे …!! ये मुमकिन है इसलिए क्योंकि परिंदों में नेता नहीं होते ….!! ******** आज भी ये बात हम समझ ही नहीं पाते हैं !! मुट्ठी जितने दिल में कैसे ज़माने के गम समाते हैं ? ******** कीसी से भी अपनी […]

.. . बिक न जाए

बिक गयी है धरती , गगन बिक न जाए , बिक रहा है पानी,पवन बिक न जाए , चाँद पर भी बिकने लगी है जमीं ., डर है की सूरज की तपन बिक न जाए , हर जगह बिकने लगी है स्वार्थ नीति, डर है की कहीं धर्म […]

Shayri part 14

“बिखरने दो होंठों पे हंसी के फुहारों को दोस्तों, प्रेम से बात कर लेने से जायदाद कम नहीं होती….! ******** आइना तेरी भी हालत अजीब है मेरे दिल की तरहा!!!!!!! तुझे भी बदल देते है ये लोग तोड़ने के बाद…..!!! ******** मिल जायेंगा हमें भी कोई टूट के […]

ન્હોતી ખબર

ન્હોતી ખબર સમયની સાથે તુંએ ફરી જશે ન્હોતી ખબર મળવુય તને સપનુ બની જશે લાગ્યું’તુ હમણાં જ થઇ’તી સવાર સંબંધની ન્હોતી ખબર સાંજ આટલી જલ્દી ઢળી જશે વાદળ વાયદાના ઘેરાયા’તા કાળા ડીબાંગ ન્હોતી ખબર વરસ્યા વગર પાછા ફરી જશે જોયુ છતાં ના જોયું જે મેં કર્યું’તું ઘણું બધું […]

Shayri part 12

“गरीबी आदमियों के कपडे उतार लेती है और अमीरी औरतों के ……!!! ******* नमक स्वाद अनुसार। अकड औकात अनुसार। ******** लगी है मेहंदी पावँ में क्या घूमोगे गावं मे… असर धूप का क्या जाने जो रहते है छावं मे…!! ******** बहुत आसान है पहचान इसकी अगर दुखता नहीं […]

एक चिड़िया और चिड़ा की प्रेमकहानी

एक दिन चिड़िया बोली – मुझे छोड़ कर कभी उड़ तो नहीं जाओगे ? चिड़ा ने कहा – उड़ जाऊं तो तुम पकड़ लेना. चिड़िया-मैं तुम्हें पकड़ तो सकती हूँ, पर फिर पा तो नहीं सकती! यह सुन चिड़े की आँखों में आंसू आ गए और उसने अपने […]

मुश्किलें जरुर है, मगर ठहरा नही हूँ मैं.

मुश्किलें जरुर है, मगर ठहरा नही हूँ मैं. मंज़िल से जरा कह दो, अभी पहुंचा नही हूँ मैं. कदमो को बाँध न पाएंगी, मुसीबत कि जंजीरें, रास्तों से जरा कह दो, अभी भटका नही हूँ मैं. सब्र का बाँध टूटेगा, तो फ़ना कर के रख दूंगा, दुश्मन से […]

… नहीं होती

करो सोने के सौ टुकडे तो क़ीमत कम नहीं होती, बुज़ुर्गों की दुआ लेने से इज्ज़त कभी कम नहीं होती. जरूरतमंद को कभी देहलीज से ख़ाली ना लौटाओ, भगवन के नाम पर देने से दौलत कम नहीं होती.. पकाई जाती है रोटी जो मेहनत के कमाई से, हो […]

मेरी आदत नही

किसी को तकलीफ देना मेरी आदत नही बिन बुलाया मेहमान बनना मेरी आदत नही मैं अपने गम में रहता हूँ नबाबों की तरह परायी ख़ुशी के पास जाना मेरी आदत नही सबको हँसता ही देखना चाहता हूँ मै किसी को धोखे से भी रुलाना मेरी आदत नही बांटना […]

ईमानदारी का इनाम

इस साल मेरा सात वर्षीय बेटा दूसरी कक्षा मैं प्रवेश पा गया ….क्लास मैं हमेशा से अव्वल आता रहा है ! पिछले दिनों तनख्वाह मिली तो मैं उसे नयी स्कूल ड्रेस और जूते दिलवाने के लिए बाज़ार ले गया ! बेटे ने जूते लेने से ये कह कर […]

Shayri part 11

वक़्त रहते संभाल लो मुझे कहीं तुम मुझे खो दो और तुम्हे खबर भी न हो ! ******** मेरे पिठ पे जो जख्म हे वो दोस्तो कि निशानी हे…, वरना सिना तो आज भि दुश्मनो के इण्तजार मे बेठा हे….! ******** अपने शब्दों में ताकत डालें आवाज में […]

खूबसूरत

हर किसी को अपनी खूबसूरती पर घमण्ड होता है | मै आज आपको खूबसूरती की परिभाषा बताता हूँ खूबसूरत है वो लब…… जिन पर, दूसरों के लिए कोई दुआ आ जाए !! खूबसूरत है …………वो दिल जो, किसी के दुख मे शामिल हो जाए !! खूबसूरत है………. वो […]

Shayri part 10

Maut se pehle bhi ek maut hoti hai Dekho tum kisi apne se judaa hokar ******* Bahel jaaoge tum gam sunkar mere kabhi dil gam se gabhraaye to kahena.. ******** Kitna mushkil hei zindagi ka ye safar… Khuda ne marna haram kiya, logo ne jina… ******** Akhir Zindagi […]